उत्तर प्रदेश

नमामि गंगे परियोजना की बड़ी लापरवाही राहगीरों की बढ़ी मुसीबत

सड़को के किनारे मिट्टी छोड़ने से हो सकती हैं बड़ी दुर्घटनाएं।

बभनी।थाना क्षेत्र अंतर्गत इन दिनों ग्रामीणों के पेयजल सुविधा हेतु नमामि गंगे का कार्य कराया जा रहा है जिसे लेकर ग्रामीण सड़कों के किनारे पाइप लाइन बिछाने हेतु गड्ढे खुदवाए जा रहे है जिसके बाद अधिकतर सड़क के किनारे से मिट्टी बीच सड़क पर आ गई है जिसमें बरसात होते ही पूरी मिट्टी में पानी की वजह से सड़क कीचड़ में तब्दील हो जाता है जिससे आए दिन दर्जनों राहगीर घायल हो चुके हैं यह पूरा मामला सोनभद्र जिले के अंतर्गत बभनी ब्लाक क्षेत्र के चपकी मोड़ से नधिरा सम्पर्क मार्ग के बीच सड़को मिट्टी छोड़ दिया गया था जिसमे बरसात शुरू होते ही इस क्षेत्र के लोगो के सामने एक बड़ी मुसीबत उपज गयी है

इस बार ये मुसीबत नमामि गंगे प्रोजेक्ट के (पेटी कांट्रेक्टर की गलती से मुसिबत बढ़ने वाली है. दरअसल, नमामि गंगे के तहत जिन परियोजनाओं पर काम बभनी क्षेत्र में हो रहा है उसकी जिम्मेदारी नमामि गंगे परियोजना की है. परन्तु क्षेत्र के सड़को की तस्वीरें भारी बारिश के बीच डराने के लिए काफी है. दरअसल, जिन नमामि गंगे परियोजनाओं के जरिए क्षेत्र में पानी की समस्या हमेशा हमेशा के लिए खत्म होने का दावा किया जा रहा है, वो परियोजना फिलहाल बभनी क्षेत्र के लोगो की चिंता बढ़ा रही है. भारी बारिश के बीच चपकी मुख्य मार्ग के नधिरा चपकी आदि गांवों के साधन संपन्न इलाके के लोगो का घरों से निकलना मुश्किल हो गया है.

इन क्षेत्र के अधिकतर इलाकों में नमामि गंगे के तहत काम हो रहा है लेकिन इसके पूरे होने की रफ्तार धीमी है. ऊपर से लगातार हो रही बरसात ने समस्या को और भी बढ़ा दी है.साथ ही सड़कों और नालियों को खोदकर छोड़ दिया गया है.

यहां रहने वाले एक व्यक्ति का कहना है कि पिछले कुछ दिनों से हमारे इलाके में काम हो रहा है. लेकिन इससे हमारी मुसीबत बढ़ रही है. पानी हेतु पाइप लाइन बनाई जा रही है लेकिन इसमें सड़क पर मिट्टी छोड़ने से चल रहे राहगीरों को गिरने की आशंका हर वक्त रहती है. एक अन्य व्यक्ति ने कहा कि इस परियोजना से कुछ समस्या बढ़ी है. बरसात को देखते हुए सड़क के किनारे का काम पूरा नहीं होने की वजह से लगातार हम लोगों की दिक्कत बढ़ रही है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button