उत्तर प्रदेशसोनभद्र

राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन के लोहरदगा – टोरी रेल लाईन से होकर वाया रेनूकोट ,चोपन होकर संचालन की स्वीकृति रेल मंत्री

सोंनभद्र,, क्षेत्रीय रेल उपयोगकर्ता परामर्शदात्री समिति ,उत्तर मध्य रेलवे प्रयागराज सदस्य श्री एस के गौतम ने बताया कि रांची -नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन के लोहरदगा – टोरी रेल लाईन से होकर वाया रेनूकोट ,चोपन होकर संचालन की स्वीकृति रेल मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव द्वारा राँची के सांसद श्री संजय सेठ से हुई मुलाकात के बाद दे दी है। यह ट्रेन अभी मूरी, बरकाकाना, डालटनगंज, डेहरी ऑन सोन, मुग़लदाराय होकर नई दिल्ली चल रही थी। श्री गौतम ने बताया कि उनके अनुरोध पर सोनभद्र सांसद श्री पकौड़ी लाल कोल, राज्यसभा सांसद श्री रामशकल एवँ झारखंड से राज्यसभा सांसद श्री महेश पोद्दार रेल मंत्री को पत्र लिखकर व व्यक्तिगत मिलकर राँची-लोहरदगा-टोरी रेल लाइन से रेलगाड़ियों के संचालन की माँग लगातार लम्बे समय से रखते आ रहे हैं। ज्ञात हो चार साल बीत जाने व लगभग 600 करोड़ रुपये की लागत से राँची-टोरी -लोहरदगा रेल लाईन तैयार हो जाने तथा विधुतीकरण भी पूरा हो जाने के बावजूद एक्सप्रेस रेल गाड़ियों का संचालन इस रेल खण्ड से नहीं हो सका है। रेल मंत्री ने दुर्गा पूजा से पहले राजधानी ट्रेन के संचालन का आश्वासन सांसद को दिया है।
लोहरदगा-टोरी नई रेल लाईन होकर दो नई ट्रेनों राँची- सूरत, उधना,अहमदाबाद (गुजरात) साप्ताहिक एक्सप्रेस ट्रेन वाया रेनुकूट, चोपन,सिंगरौली,कटनी,भोपाल,उज्जैन होकर गुजरात के सूरत, उधना अहमदाबाद रेलवे स्टेशन तक तथा दूसरी ट्रेन राँची-लोकमान्य तिलक टर्मिनल (मुम्बई) तक वाया रेनुकूट, चोपन,सिंगरौली,कटनी,जबलपुर, भुसावल लोकमान्य तिलक टर्मिनल स्टेशन (मुम्बई) तक चलाया जाना भी प्रस्तावित है। उम्मीद है चोपन -सिंगरौली-कटनी रेल खण्ड पर चल रहे निर्माण कार्यों के पूरा होते ही उक्त दो नई रेलगाड़ियाँ उर्जान्चल वासियों को मिल जाएंगी। इन नई रेल गाड़ियों के संचालन से पाँच राज्यों के बड़े भूभाग के रेल यात्रियों को फायदा मिलेगा तथा विभिन्न प्रदेशों को पर्यटन, व्यापारिक, सांस्कृतिक आदि संसाधनों के हिसाब से उपयोगी भी साबित होंगी। तथा रेलवे के राजस्व में बृद्धि भी होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also
Close
Back to top button