उत्तर प्रदेश

ब्राम्हण तथा क्षत्रिय समाज से माफी मांगें प्रधानमंत्री जी:-पूर्वांचल नव निर्माण किसान

पकौड़ी लाल के विवादित बयान पर छिड़ी रार ।

संसद सदस्यता बर्खास्त करने तथा उनके पूर्व की नक्सल गतिविधियों की जांच कराने की उठी मांग ।

सोनभद्र, पूर्वांचल नव निर्माण मंच तथा करणी सेना और टीम50 के लोगों ने आज संयुक्त समाज मोर्चा के बैनर तले रावर्टसगंज के सांसद पकौड़ी लाल कोल के विवादित बयान को लेकर कलेक्ट्रेट का घेराव करते हुए जोरदार प्रदर्शन किया तथा महामहिम राष्ट्रपति तथा प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी सोनभद्र अभिषेक कुमार सिंह को सौंपा ।

पूर्वांचल नव निर्माण मंच के नेता अभय पटेल तथा रमाकांत तिवारी ने प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन के माध्यम से कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान सोनभद्र मे अपनी चुनावी सभा मे आये प्रधानमंत्री जी ने मंच से सोनभद्र के लोगों से भाजपा समर्थित उम्मीदवार पकौड़ी लाल कोल को वोट देने की अपील करते हुए कहा था के लोग पकौड़ी लाल को वोट देंगे तो वह वोट पकौड़ी को नहीं सीधा प्रधानमंत्री जी को मिलेगा । कहा प्रधानमंत्री जी की बात मे आकर लोगों ने पकौड़ी लाल को वोटदिया और मोदी जी प्रधानमंत्री बन गए । नेता द्वय ने कहा आज सार्वजनिक मंच से मोदी जी के द्वारा थोपा गया सांसद पकौड़ी लाल कोल ब्राम्हण तथा क्षत्रिय समाज को गाली दे रहा है, इसके लिए पकौड़ी लाल से अधिक देश के प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी बनती है कि वो लोगों से सार्वजनिक रुप से माफी मांगें। नेता द्वय ने ज्ञापन के माध्यम से विवादित विडियो मे पकौड़ी लाल द्वारा दिए गए उस बयान की भी चर्चा की जिसमे डायनामाइट से लोगों का घर गिराने तथा पूर्व मे 12 सिपाही, 3 दरोगा और एक सीओ की खुलेआम पिटाई कराने की बात सांसद कर रहे हैं । मंच के नेताओं ने आशंका जताई की कहीं पूर्व मे पकौड़ी लाल कोल नक्सल गतिविधियों मे लिप्त तो नही थे । ज्ञापन के माध्यम से मंच के नेताओं ने प्रधानमंत्री जी से माफी मांगने के अलावा पकौड़ी लाल कोल की संसद सदस्यता बर्खास्त करने और पूर्व मे इनके नक्सल गतिविधियों की संलिप्तता की उच्चस्तरीय जांच कराकर संवैधानिक कानूनी कार्रवाई पकौड़ी लाल पर कराने की मांग की ।
मंच के नेता श्रीकांत त्रिपाठी तथा गिरीश पाण्डेय ने कहा कि यह केवल ब्राम्हण तथा क्षत्रिय के स्वाभिमान की लड़ाई नहीं है। बेलगाम सांसद के बयान से ब्राम्हण तथा क्षत्रिय समाज के साथ-साथ अन्य जाति धर्म के लोग भी नाराज हैं यहां तक कि कोल समाज का बौद्धिक वर्ग भी सांसद के बयान से आक्रोशित है। संवैधानिक पद पर बैठे सांसद का ऐसा अमर्यादित बयान क्षम्य नहीं । नेता द्वय ने कहा यदि प्रधानमंत्री जी द्वारा खेद व्यक्त करते हुए बेलगाम सांसद पर कानूनी कार्रवाई सुनिश्चित नहीं की गई तो आगामी लोकसभा चुनाव मे पूर्वांचल नव निर्माण मंच खुलेआम भाजपा के विरोध मे खड़ा होगा । इस दौरान सूर्यकान्त चौबे, रमाकांत दुबे, उदय प्रकाश सिंह, सतीश दुबे, प्रबल पटेल, अनुराग पाण्डेय, सत्यम पाण्डेय, ओमप्रकाश पाण्डेय, शिवम त्रिपाठी, नीतेश सिंह, निर्भय सिंह, घनश्याम देव, कृष्ण कुमार देव, सदायतन पाण्डेय, ओमप्रकाश सिंह, राजेश पाण्डेय, सुरेश पाण्डेय समेत सैकड़ों लोग उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button