उत्तर प्रदेश

एक अनूठी पहल प्रीतिभोज में अतिथियों को बाँटें 300 कलमी आम के पौधे

सोनभद्र:-ग्राम भोगर पोस्ट तेंदू जिला सोनभद्र के रहने वाले बृजेश रत्न मौर्य जी ने बिना दहेज का विवाह किया और अपने विवाह के प्रीतिभोज पर आयोजित कार्यक्रम दिनांक 27/05/2022 को अपनी नव विवाहिता पत्नी मंजू के साथ मिलकर पधारे अतिथियों को रिटर्न गिफ्ट के तौर पर 300 कलमी आम के पौधे वितरित किए। कार्यक्रम का शुभारंभ नव विवाहित बृजेश व मंजू ने नीम का पौधा लगा कर किया। बृजेश ने शादी के तमाम खर्चों के अतिरिक्त आम के पौधों के वितरण हेतु धन की व्यवस्था के लिए अपने लिए शेरवानी नहीं खरीदी, मैजिक से बारात ले गए, आर्केस्ट्रा कैंसिल कर 30,000 रुपयों की बचत कर 300 कलमी आम के पौधे खरीद कर अतिथियों में रिटर्न गिफ्ट के रुप में बांटा। इस कार्य हेतु बृजेश ने अपने घरवालों, अपनी पत्नी व ससुराल वालों को समझा कर पहले उनकी सहमति ली और जनपद में पहली बार इस प्रकार के अनूठे आयोजन को सफलता पूर्वक कार्य रूप में परिणित किया। बृजेश के इस कार्य में प्रकृति विधान फाउण्डेशन का सराहनीय योगदान रहा। बृजेश व अंजू की इस पहल को गाँव वालों सहित उपस्थित सभी अतिथियों ने सराहा और अपने घरों में भी होने वाली शादियों सहित तमाम कार्यक्रमों में पौधे बांटने की परंपरा की शुरुआत का संकल्प लिया। बृजेश व मंजू के इस आयोजन की चर्चा आस-पास के कई गांवों तक थी। कुछ लोग तो बिन बुलाए मेहमान के तौर पर इस अनूठे कार्यक्रम को देखने आए थे। बृजेश और अंजू ने बताया कि उनकी इच्छा थी कि उनकी शादी यादगार बने जिससे लोगों में कुछ सार्थक संदेश जाए और पर्यावरण की सुरक्षा और प्रदूषण से मुक्ति के लिए लोगों को जागरूक किया जा सके। ब्रिजेश व अंजू का मानना है कि धरती माँ को हरा-भरा कर तमाम समस्याओं से निजात पाई जा सकती है। ऊक्त आयोजन के अवसर पर प्रकृति विधान फाउंडेशन के अध्यक्ष राजकुमार केसरी व सचिव आशीष पाल, सिद्धार्थ फाउंडेशन के अध्यक्ष संतोष सिंह व उत्सव ट्रस्ट परिवार की ओर से आशीष पाठक, विनीत श्रीवास्तव, विकास राज आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button