उत्तर प्रदेश

पीएमजेएसवाई से बनाई जा रही 25 किमी सड़क में स्थानीय बेरोजगारों को काम ना दे झारखंड के लगाए मजदूर

स्थानीय लोगों को रोजगार देने की मांग को लेकर कुड़वा के ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

पीएमजेएसवाई से बनाई जा रही 25 किमी सड़क में स्थानीय बेरोजगारों को काम ना दे झारखंड के लगाए मजदूर

ग्रामीणों ने लगाया आरोप काम मांगने पर ठीकेदार देता है जेल भेजने की धमकी।

दुद्धी(रवि सिंह)सोनभद्र| कोन थाना क्षेत्र के कुड़वा ग्राम पंचायत के तुमिया टोले में पीएमजेएसवाई विभाग द्वारा बनवाये जा रहें सड़क निर्माण में स्थानीय लोगों को रोजगार दिलाये जाने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने जमकर प्रदर्शन किया,इस दौरान ग्रामीणों ने एसईएन मुर्दाबाद के नारे भी लगाए| ग्रामीणों ने कहा कि अगर उन्हें रोजगार नहीं मिली वे आंदोलन को बाध्य होंगे| 

  ग्रामीण बुधिनरायण यादव ने कहा कि गांव में महावीर कंस्ट्रक्शन द्वारा कार्य कराया जा रहा है तथा सड़क निर्माण में स्थानीय मजदूरों को काम ना देकर बिहार व झारखंड के मजदूरों को लगाया गया है,यहां के मजदूर बेरोजगार हो घूम रहें हैं|ग्रामीण अमरनाथ यादव ने कहा कि प्रधान मंत्री ग्रामीण सड़क निर्माण विभाग द्वारा कुल 25 किमी की सड़क बनाई जा रही है ,जिसमें एक सड़क पिपरहवा मोड़ से गुप्ता मोड़ करहिया तक दूसरा दुद्धी विधानसभा के धरनवा तक बनाया जा रहा है।

जिसमें सभी काम करने वाले श्रमिक झारखंड के लगा दिए गए है।मनमाना काम किया जा रहा है काम मांगने विरोध करने पर ठीकेदार द्वारा जेल भिजवाने की धमकी दी जाती है।ग्रामीणों ने जिलाधिकारी का ध्यान आकृष्ट कर सड़क निर्माण में विभाग को निर्देशित कर स्थानीय लोग को काम दिलवाए जाने की मांग किया है साथ ही सड़क निर्माण की गुणवत्ता भी ठीक किये जाने का मांग किया है| 

 इस मौके पर अमरनाथ यादव ,बुद्धिनारायन यादव ,जगजीवन चेरों , बबलू चेरों ,प्रमोद चेरों रामप्यारे गोंड फागु भुइयां,रामजीत भुइयां,शोभनाथ चेरों के साथ अन्य ग्रामीण मौजूद रहें

 पिपरखाड़ मोड़ से करहिया मोड़ तक की 5 किमी सड़क है चकाचक उसे उखाड़कर बनाई जा रही सड़क।

दुद्धी(रवि सिंह)सोनभद्र|ग्रामीणों ने बताया कि पिपरखाड़ मोड़ से करहिया मोड़ तक कि 5 किमी मार्ग चकाचक है एक भी गढ्ढे नहीं है वहीं विभाग ने इस सड़क को भी टेंडर शामिल कर सरकारी धन का दुरुपयोग किया जा रहा है बताया कि यह सड़क दो साल पहले बनी थी सड़क पर एक भी गढ्ढे नहीं है अब इसी को उखाड़कर इस पर सोलिंग डाला जा रहा है। आरोप लगाया कि निर्माण की गुणवत्ता भी सही नही है स्थानीय पहाड़ियों को तोड़कर निकाली गई सोलिंग का प्रयोग भी धड़ल्ले से हो रहा है।एक तरफ अच्छी सड़क को पुनः बनवाकर जहां सरकारी धन का दुरुपयोग हो रहा है वहीं स्टीमेट के मुताबिक काम भी नहीं हो रहा|

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button