उत्तर प्रदेश

निजी कंपनी में संविदा मजदूरों का हो रहा शोषण

निजी कंपनी में संविदा मजदूरों का हो रहा शोषण

चुर्क:बुधवार को निजी कम्पनी गेट पर मजदूरों का हंगामा इंतजार के दो माह बीत जाने के बाद भी नही मिला काम l रोजी रोटी की चाह में आये दूर दराज से निजी कम्पनी में काम पर अये सैकड़ो मजदूरों के सामने रोजी रोटी के समस्या दिखाई पड़ रहे हैं आप को बतादे की लाक डाउन के दौरान कंपनी के सैकड़ों संविदा मजदूरों को बैठा दिया गया था कंपनी के अधिकारियों ने उन्हें यह आश्वासन दिया गया था की लाक डाउन खत्म होते ही कम्पनी का कार्य चालु होने के बाद सभी को कार्य पर वापस बुला लिया जाएगा परंतु अब तक नही बुलाया गया है मजदूरों के सामने परिवार के सामने खाने पीने की समस्या हो रही है सभी मजदूर कोई बिहार से कोई मध्य प्रदेश से यहां काम कर रहा है घर भी नजदीक नहीं है उनके सामने घर भी जाने के लिए पैसे नहीं हैं मजदूरों को बराबर कंपनी द्वारा कार्य पर वापस बुलाने के लिए आश्वासन ही दिया जा रहा है कंपनी द्वारा मजदूरों को जबरदस्ती रिजाइन देने की बात कही जा रही है काम नही मिलने से मजदूरों के सामने रोटी रोजी की समस्या हो रही है सभी बैठाये गए मजदूरों को कंपनी के अधिकारियों द्वारा बार-बार कार्य पर बुलाने के लिए झूठा आश्वासन ही दिया जा रहा है जबकि कंपनी के अधिकारी आश्वासन देकर अपना पल्ला झाड़ ले रहे हैं जबकि मजदूर का कहना है कि हम पिछले कई वर्षों से कंपनी की सेवा करते आ रहे हैं आज उन मजदूरों को हटाकर उन मजदूरों के साथ सरासर अन्याय किया जा रहा है सभी मजदूरों का कहना है कि आज हम लोग कहां जाएं कौन हम लोगों को रखेगा जबकि कितने साल से हम लोग इस कंपनी की सेवा करते आ रहे हैं आज भी सारे मजदूर कंपनी के गेट पर इकट्ठा हुए थे परंतु निजी कंपनी के अधिकारियों द्वारा सभी मजदूरों को झूठा आश्वासन ही दिया गया तथा कंपनी के अधिकारियों द्वारा खुले शब्दों में यह भी कहा गया जो मजदूर जाना चाहता है वह चला जाए हमें इससे कोई आपत्ति नहीं है परंतु अभी किसी मजदूर को कंपनी के अगले आदेश तक नहीं रखा जाएगा यह आश्वासन दिया गया की कंपनी विचार कर रही है इन मजदूरों को कार्य पर बुला लिया जाएगा लेकिन इसकी कोई लिखित गारंटी नहीं है कि काम पर कब बुला जाये गया हम मजदूर अपने घर भी नही जा पा रहे है तथा नहीं कंपनी के प्रबंधक द्वारा मजदूरों को सैलरी ही दिया जा रहा है तथा नहीं उनके घर भेजने की व्यवस्था की जा रही है मनोज सिंह,केदारनाथ, कमल कांत,ब्रमदेव, अनिल पटेल,चन्द्र कुमार, प्रमोद कुमार, गोविंद, रोहित पटेल,गोविंदा, मन्टू, संविदा कर्मचारी मजूद रहे l

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button