सोनभद्र

*हिण्डाल्को द्वारा संचालित स्कूलों में मनाया गया शिक्षक दिवस*

एम एस हशन, सोनभद्र

रेणुकूट। हिण्डाल्को द्वारा संचालित आदित्य बिड़ला इण्टरमीडिएट कॉलेज, आदित्य बिड़ला पब्लिक स्कूल, हिण्डाल्को प्राइमरी स्कूल यूनिट-2 एवं यूनिट-3 तथा महिला मंडल उच्च प्राथमिक विद्यालय, रेणुकूट में सोमवार को शिक्षक दिवस बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर विद्यार्थियों ने अपने गुरुजनों के सम्मान में रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। प्रख्यात शिक्षाविद डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के चित्र के सम्मुख दीप प्रज्जवलित कर आदित्य बिड़ला पब्लिक स्कूल में मुख्य अतिथि हिण्डाल्को के मुखिया एन नागेश,रवि गुप्ता, वनिता वासनिक, यशवंत कुमार, आदित्य बिड़ला इंटरमीटिएट कॉलेज में मुख्य अतिथि मानव संसाधन प्रमुख जसबीर सिंह, सीमा चहल शुक्ला, हिण्डाल्को प्राइमरी स्कूल यूनिट-2 में मुख्य अतिथि एन एन रॉय, विनोद ठाकुर तथा हिण्डाल्को प्राइमरी स्कूल यूनिट-3 में मुख्य अतिथि जेपी नायक, उज्ज्वल केश एवं महिला मंडल उच्च प्राथमिक विद्यालय में मुख्य अतिथि लक्ष्मी नागेश एवं पूनम रॉय ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। विद्यालय के प्रधानाचार्य क्रमशः डेफनी अंगर, दयानंद शुक्ला, रितु भारद्वाज, तनुश्री दत्ता तथा अश्विनि पाण्डेय ने इस अवसर पर उपस्थित सभी अतिथियों का पुष्पगुच्छ देकर अभिवादन किया। साथ ही एबीआईसी में अतिथियों द्वारा पिछले सत्र में सेवानिवृत्त हुए शिक्षकों सुरेश चन्द्र सिंह, गिरिजा शंकर द्विवेदी, राजीव कुमार पाण्डेय, सभाजीत यादव व रामयश जी को अंगवस्त्र एवं उपहार देकर सम्मानित किया गया। एबीआईसी में जहाँ छात्र -छात्राओं ने संगीत शिक्षिका ज्योति मिश्रा द्वारा गीत “गुरूवर नमो नमो” सुनाया वहीं कव्वाली “तेरी रहमतों का दरिया” ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। शिक्षिका पुष्पिता पाठक, प्रियांषु सिंह व ऋतु द्वारा तैयार व छात्राओं के शानदार नृत्य प्रदर्शन ने खूब वाहवाही बटोरी। छात्रा प्रीति पाण्डेय व संध्या यादव ने शिक्षक दिवस पर अपने विचार रखे। कार्यक्रम के अन्त में मुख्य अतिथि एन नागेश एवं जसबीर सिंह ने विद्यालय परिवार के सभी सदस्यों को उपहार देकर सम्मानित किया और कहा उत्कृष्ट समाज व राष्ट्र का निर्माण बिना शिक्षक के संभव ही नहीं है। उन्होंने कहा- आज के युग में शिक्षक होना गौरव की बात है। विद्यालय के प्रधानाचार्य ने डीएन शुक्ला ने डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जीवन पर प्रकाश डालते हुए राष्ट्र निर्माण में शिक्षक की भूमिका को विस्तार से समझाया। वहीं एबीपीएस में विद्यार्थियों ने गीत-संगीत, नाटक व भाषण से शिक्षकों के प्रति अपना समर्पण व्यक्त किया। कक्षा बारहवीं के विद्यार्थियों ने शिक्षक बन कर विभिन्न कक्षाओं में अध्यापन कार्य किया। हिण्डाल्को के मुखिया एन नागेश व साथ में आए अन्य पदाधिकारियों द्वारा शिक्षकों को सम्मान स्वरूप उपहार दिए गए। इसी प्रकार अन्य स्कूलों में भी शिक्षक दिवस के अवसर पर विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन कर शिक्षकों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर हिण्डाल्को के पब्लिसिटी विभाग के सजल साहा, प्रशान्त श्रीवास्तव, सुरक्षा विभाग के राहुल सिंह, एबीपीएस के नीरज सिंह का अहम योगदान रहा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button