सोनभद्र

दुद्धी को जिला बनाए जाने को लेकर प्रदर्शनकारियों ने कहा लेकर रहेंगे जिला

संघर्ष समिति के लोग और अधिवक्ताओं ने कचहरी गेट पर किया प्रदर्शन नारेबाजी‌।

सेराजुल होदा

दुद्धी सोनभद्रl. दुद्धी को जिला बनाए जाने की मांग को लेकर संघर्ष समिति के सदस्यों और अधिवक्ताओं ने न्यायिक कार्य से विरत रहकर कचहरी गेट पर प्रदर्शन किया और नारेबाजी कीl सिविल बार संघ के अध्यक्ष एवं संघर्ष समिति के महासचिव प्रभु सिंह कुशवाहा

ने कहा कि दुद्धी को से जिला बनाए जाने की मांग को लेकर आंदोलन संघर्ष समिति के तत्वाधान में किया जा रहा है उसके बावजूद सरकार प्रदेश की आंख मूंदकर पड़ी हुई हैl. कहा कि सरकार ने पिछले चुनाव में वादा किया था लेकिन दूसरी बार सरकार बनने के बाद में सरकार अपनी वादा भूल गई जिससे लोगों में नाराजगी धीरे-धीरे बढ़ती जा रही हैl कहा कि अगर शीघ्र ही सरकार जिला बनाए जाने की मांग को लेकर गंभीर नहीं हुई तो आने वाले समय में संघर्ष समिति अपना आंदोलन तेज कर बड़े आंदोलन के लिए बाध्य होगाl दुद्धी बार संघ के पूर्वअध्यक्ष ने कहा रामपाल जौहरी कि जिले से संबंधित कार्य के लिए लोगों को डेढ़ सौ किलोमीटर का सफर करना पड़ता है अगर काम नहीं हुआ तो वापस आना पड़ता है आने जाने को लेकर 300 किलोमीटर हो जाता है उसके बाद भी सरकार आम जनता की समस्याओं के प्रति गंभीर नहीं दिख रही है। सिविल बार संघ के पूर्व सचिव राम जी पांडे ने कहा की हाल में हुए विधानसभा चुनाव में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दुद्धी आए हुए थे ।उन्होंने आम जनता से कहा था दुद्धी विधानसभा क्षेत्र के विधायक को जीत आओगे ना तो भीड़ भरी आम जनता ने कहा कि प्रत्याशी को जिताएंगे और प्रत्याशी जीत भी गए विधानसभा पहुंच भी गए सरकार भी बन गई उसके बावजूद भी जिला मुख्यालय के नाम पर मुख्यमंत्री के स्वर कड़े केकड़े ही हैंl उन्होंने कहा कि शीघ्र ही जिला से संबंधित मांग को लेकर भारत के प्रधानमंत्री से मुलाकात कर अपनी समस्याएं रखेंगेl उदय लाल मौर्य ने कहा कि क्षेत्र के आदिवासी गरीब लोगों को न्यायालय या जिलाधिकारी से संबंधित मुकदमों के पैरवी के लिए जिला मुख्यालय जाना पड़ता है सुबह जाता है फिर रात में लोग लौट पाते हैं यहां के न्यायालय से पिपरी अनपरा थानों के आईपीसी के मुकदमे भी जिला मुख्यालय पर सुनाई होती है जो यहां के जनता के लिए बहुत बड़ा नाइंसाफी है उन्होंने कहा कि अगर सारे समस्याओं का समाधान शीघ्र नहीं होता है तो संघर्ष समिति के लोग और अधिवक्ता आंदोलन के लिए मुखर होंगे जिसके जिम्मेदारी शासन की होगीl इस मौके पर विजय सिंह राम जी पांडे अरुणोदय जौहरी छोटे लाल गुप्त उदय लाल मौर्या पीयूष अग्रहरी आशीष गुप्ता राकेश रेनू अग्रहरी राकेश कुमार अग्रहरी मनोज आजाद जीवन राम चंद्रवंशी प्रेमचंद गुप्ता संतोष कुमार टंडन सन्नो बानो रेनू कुमारी शकुंतला अमरावती देवी सहित काफी संख्या में लोग मौजूद रहेl

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button