उत्तर प्रदेश

निर्माणाधीन विद्युत टावर में अवैध बालू, घटिया किस्म की गिट्टी का प्रयोग,बनाजांच का विषय

निर्माणाधीन विद्युत टावर में अवैध बालू, घटिया किस्म की गिट्टी का प्रयोग,बनाजांच का विषय

चोपन( संवाददाताअशोक मद्धेशियाा)ग्राम पंचायत चोपन क्षेत्र अंतर्गत गडइडीह प्राथमिक विद्यालय के पीछे निर्माणाधीन विद्युत पावर का काम मिर्जापुर की कंपनी बीके इंफ्रास्ट्रक्चर द्वारा कराया जा रहा है जिसमें सोन नदी का अवैध बालू वह घटिया किस्म की गिट्टी का प्रयोग धड़ल्ले से किया जा रहा है जिसमें एक टावर फाउंडेशन बनकर तैयार हो गया है और थोड़ी दूर पर दूसरे दूसरे फाउंडेशन का निर्माण चल रहा है
हम वहां निर्माण कार्य देख रहे मैनेजर नाम वकील मुंशी गुप्ता जी से बालू विक्रेता बनकर गये और पूछा कि आप बालू कैसे खरीद रहे हैं परमिट वाला या बिना परमिट का तब उन्होंने हमसे कहा की बिना परमिट वाला हमने कहा क्या रेट लेंगे तो उन्होंने बताया कि अट्ठारह सौ या इक्कीस सौ में प्रति ट्रैक्टर टिपर 100 फीट वाला फिर हमने कहा यह तो सरकारी काम है इसमें तो परमिट वाला बालू लगता होगा तो उन्होंने कहा की जो कोई गाड़ी बालू गिरा देता है तब उसका यूज़ किया हुआ

परमिट हम लोग खरीद कर रख लेते हैं बचाव में हम पूछे कि अभी तक यह बालू कौन गिरा रहा था तब उन्होंने कहा की चोपन गांव के लोग हैं चार गाड़ी पांच गाड़ी गिरा देते हैं रात में और जो खत्म होता है तो फिर उनसे बोल देते हैं और वह समय देखकर गिरा देते हैं अपना पेमेंट आ कर ले जाते हैं इस तरह से स्थानीय डाला वन रेंज प्रशासन की मिलीभगत से प्रतिदिन सेंचुरी वन क्षेत्र में बालू का अवैध खनन बदस्तूर जारी है किससे उत्तर प्रदेश शासन को हर रोज राजस्व का चूना लगाया जा रहा है जिस की कडाई से गोपनीय जांच व कार्रवाई अत्यंत आवश्यक हैं तभी और राजस्व के नुकसान को रोका जा सकता है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button