उत्तर प्रदेश

पशु तस्करी के खिलाफ धरना प्रदर्शन, पुलिस विभाग के उपर से लेकर निचे तक सब मौन,आखिर क्यों इस बात की क्षेत्र में चर्चा-ए-खास बनी हुई

पशु तस्करी के खिलाफ धरना प्रदर्शन, पुलिस विभाग के उपर से लेकर निचे तक सब मौन,आखिर क्यों इस बात की क्षेत्र में चर्चा-ए-खास बनी हुई

खलियारी(ओमप्रकाश जायसवाल)रायपुर थाना क्षेत्र के वैनी व खलियारी बाजार में प्रतिदिन सुबह के वक़्त पशु तस्करो के वाहनों के हाई स्पीड की चाल से क्षेत्रीय लोग भयभीत व सहमें हुऐ है कि भविष्य में कहीं कोई अनहोनी ना हो जाए !

शुक्रवार को सुबह छ बजे सात पीकअप व दो डीसियम पर पशु लादकर पशु तस्कर वाहनो को बेखौफ होकर एक के बाद एक हाई स्पीड में वैनी व खलियारी बाजार होते हुऐ बिहार राज्य को गये जिसकी चर्चा खलियारी व वैनी बाजार के हर चट्टी चौराहे व चाय पान के दुकान पर हो रही है कि आखिर कई वर्षों से क्षेत्र में पशु तस्करी का धंधा फल फुल रहा है कई बार क्षेत्रीय लोगों ने पशु तस्करी के खिलाफ धरना प्रदर्शन कर शिकायत कर चूके है फिर पुलिस विभाग के उपर से लेकर निचे तक सब मौन है आखिर क्यों इस बात की क्षेत्र में चर्चा-ए-खास बनी हुई है !

खलियारी (सोनभद्र) रायपुर थाना क्षेत्र के वैनी व खलियारी बाजार की सङको से होकर बिहार राज्य के लिऐ प्रतिदिन रात व अल्सुबह में अबैध पशुतओ से भरी दर्जन भर वाहन फर्राटा मारते हुऐ बेखौफ होकर जा रही हैं लेकिन पुलिस एक दम मौन है इधर कुछ माह में अबैध पशुओं से लदे पांच वाहनों को ग्रामीणों के द्वारा ही पकङा गया या पुलिस को सूचना देकर और पुलिस को सुपूर्द कीया गया है !

केश नं 1- चार माह पुर्व खलियारी-रावर्ट्रगंज मार्ग पर पनिकप खूर्द गांव के पास एक दूध कम्पनी के कंटेनर में 16 पशुओं से लदे वाहन को ग्रामीणों ने पकङकर पुलिस को सूपूर्द किया

केश नं-2 दो माह पुर्व शराब पीकर ड्राइवर पशुओं से लदे पीकअप को रतुआ गांव के तरफ से जा रहा था की पीकअप पलट गयी गांव वाले दौङे तो ड्राइवर भाग गया तो ग्रामीण ने रायपुर पुलिस को घटना की सूचना दी

केश नं-3 एक दिसम्बर 2019 को पशुओं से लदा एक पीकअप जिसका एक टायर भ्रष्ट होकर सिर्फ रीम पर ही चल रहा था जो आमडीह गांव में आकर फंश गया तो तस्कर लोग आकर टायर बदलने लगे तभी ग्रामीणों ने घटना की सूचा पुलिस को दी पुलिस के आते ही पशु तस्कर भाग गये और पुलिस टोचन कर गाङी ले गये थाने

केश नं-4 चार जनवरी 2020 को रायपुर के युवक के सक्रियता के कारण एक ट्रक लदे पशुओं की गिरफ्तारी हुई है जिसमें डेढ दर्जन  बैल पशु लदे थे !

केश नं-5 फरवरी 2020 में एक पिकअप मवेशी पङरी से तेनुआ मोङ पर फंस गयी जिसे पशु तस्करो ने गाङी निकालने का प्रयास करी रहे थे की ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना देकर पशुओं से लदी पीकअप गाङी को पकङवा दिया !

इन घटनाओं को अंजाम देने वाले ग्रामीणों को पशु तस्करो द्वारा कई बार धमकी दी जाती रही है जिसकी मौखिक जानकारी रायपुर पुलिस को भी की गयी और पुलिस मौन रही इसके बाद भी क्षेत्र के कुछ युवक पशुतस्करों के धमकियों से डरे नहीं बल्कि और बुलंदी के साथ अबैध पशु तस्करी को रोकने के लिऐ समय समय पर आगे आते रहे हैं!

इस संदर्भ में दूरभाष पर पूछे जाने पर अभिनव यादव क्षेत्राधिकारी सदर ने बताया कि क्षेत्र में पशुतस्करी का धंधा कि जानकारी हमें नहीं है फिर भी मामले की जांच कराकर पशु तस्करी पर लगाम लगाया जाएगा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button