उत्तर प्रदेश

नही रहे,दुद्धी क्रिकेट क्लब के संस्थापक सदस्य ,खिलाड़ियों में गमगीन माहौल

नही रहे,दुद्धी क्रिकेट क्लब के संस्थापक सदस्य ,खिलाड़ियों में गमगीन माहौल

सोने में दर्द के साथ ,हालत बिगड़ी और ले लिया खिलाड़ियों से रुक्सत

इलाहाबाद के रहने वाले अच्छू खान ने दुद्धी क्रिकेट टूर्नामेंट में हमेशा दिया अच्छा मार्गदर्शन

दुद्धी(रवि सिंह)आज क़स्बे की माहौल थोड़ा गमगीन हैं चारों तरफ मायूसी छायी है ,कारण यह है कि दुद्धी क्रिकेट क्लब के संस्थापक सदस्यों में से एक व वर्तमान संरक्षक मंडल के सदस्य अच्छू खान की आकस्मिक मौत हो गयी ,चिकित्सक ने संभावना जताई है कि यह कार्डियक अरेस्ट था।

इलाहाबाद के रहने वाले 60 वर्षीय अच्छू खान पिछले 40 वर्षों से लगातार दुद्धी क्रिकेट को सींचते रहे ,मार्गदर्शन या खिलाड़ियों का हौसला औफजाई कभी भी यह सब कर थकते नहीं थे।बताया जाता है कि इनके पिता सर्वे में कार्यरत थे जो दुद्धी में अपने पिता के साथ आये और यहीं बस गए।आज उनके जाने से उनके परिवार सहित समूचा खेल जगत में शोक की लहर दौड़ पड़ी।खिलाड़ी इरफान ने बताया कि दुद्धी की टीम हारती या जीतती इन्होंने ने कभी हम खिलाड़ियों का मनोबल नहीं टूटने दिया।

भूली बिसरी यादों के साथ इब्राहिम खान बताते है कि 1987 में शुरू हुए सर्वे में बनवारी राम बतौर एआरओ दुद्धी आये थे।उनके दो बच्चे संजय गौतम व राजेश गौतम भी यहां आए थे कि इसी दौरान उनकी मुलाकात अच्छू भाई व उनसे हुई और उन्होंने क्रिकेट के बारे में बताया, और बैट और क्रिकेट किट का इंतेजामात किया।और हो गयी क्रिकेट की खेल की शुरुवात।फिर क्या था 90 की दशक के अंत अंत तक एक क्रिकेट की टीम

तैयार हो गयी।शुरुवाती टीम में स्व राकेश मसीह , शैलेश बेंजामिन, रामपाल जौहरी , संजय गुप्ता, इस्लाम खान,पडडू खान ,उमेश मिश्रा, तालिब शाह ,उमाशंकर तिवारी की एक टीम जो बाहर टूर्नामेंट खेलने जाने लगी।खिलाड़ियों की क्रिकेट के प्रति लगन देखकर तत्कालीन चेयरमैन गोपाल दास जायसवाल प्रभावित हुए और उन्होंने दुद्धी की धरा पर ही टूर्नामेंट का बीजारोपण कर आगाज कर दिया।जिसका नाम पड़ा टाउन क्लब दुद्धी।शुरुवाती दिनों के टीम में राजेंद्र गौतम कैप्टन की भूमिका निभाते थे।अच्छू भाई का क्रिकेट से अच्छा लगाव रहा जिन्होंने पिछले 18 सालों से टीम में सचिव का भूमिका निभाई।आज इनके जाने से टीम को भारी क्षति हुई है।बताया कि आज शाम इनके सीने में अचानक दर्द उठा और जैसे ही परिजन अस्पताल लेकर पहुँचे इलाज शुरू हुआ कि उन्होंने दम तोड़ दिया।उनके जाने से मन बहुत व्यथित है ,अभी दो दिनों पहले मुलाकात हुई थी हमे क्या पता कि यह अंतिम मुलाकात थी।अच्छू खान के अचानक रुक्सत हो जाने से अनिल जायसवाल ,सुनील जायसवाल ,संजय गुप्ता ,महबूब खान , आनंद चौरसिया ,आलोक उपाध्याय , नीरज उपाध्याय ,इकबाल कुरैसी आदि ने गहरा शोक जताया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button