उत्तर प्रदेश

बृहद गौशाला की जमीन में रूचि नहीं लेने पर लेखपाल को मिली प्रतिकूल प्रविष्टि

बृहद गौशाला की जमीन में रूचि नहीं लेने पर लेखपाल को मिली प्रतिकूल प्रविष्टि

चोपन(संवाददाताअशोक मद्धेशिया)चोपन गांव क्षेत्र अंतर्गत स्थित शासन की मंशा के अनुरूप वृहद गौ-संरक्षण केन्द्र/गौशाला चोपन में निराश्रित रह रहे गोवंशों की बेहतर देख-भाल की जाय। गोशाला की साफ-सफाई के साथ ही गोवंशों को पौष्टिक आहार दिया जाय। पशुओं को हरे चारें के लिए ग्राम समाज की जमीन पर चारागाह की व्यवस्था तत्काल की जाय। गौशाला की स्थिति मौके पर बेहतर न पाया जाना सम्बन्धितों के लापरवाही का सबूत है। बिना देर किये गौशाला की साफ-सफाई व गोवंशों के बेहतर खान-पान की व्यवस्था की जाय।

उक्त निर्देश जिलाधिकारी श्री एस0 राजलिंगम ने चोपन मंें स्थापित वृहद गो-संरक्षण केन्द्र/गौशाला का आकस्मिक निरीक्षण के दौरान सम्बन्धितों को दिये। जिलाधिकारी ने आकस्मिक निरीक्षण के दौरान गौशाला में गंदगी पायी, जल जमाव पाया और बिना पौष्टिक के यानी निशाचर भूसा, गोवंशों के चरही में पाया। जिलाधिकारी ने मौके पर मौजूद मुख्य पशु चिकित्साधिकारी के साथ ही अन्य सम्बन्धितों को दायित्वबोध कराते हुए तत्काल गोवंश आश्रय स्थल की बेहतर साफ-सफाई और पौष्टिक आहार युक्त सानी-भूसा गोवंशों को खिलाने के निर्देश दियें। उन्होंने कहा कि बेसहारा गोवंशों को बेहतर देख-भाल की जरूरत है। उन्होंने पूरे परिसर का निरीक्षण करते हुए साफ-सफाई के प्रति नाराजगी व्यक्त किया और तत्काल व्यवस्थाओं में सुधार के निर्देश दियें। उन्होंने निर्देशित किया कि चोपन ग्राम समाज की जमीनोें को चारागाह के रूप में चिन्हांकित किया जाय और मनरेगा योजना के तहत चारागाह के जमीन के चारों तरफ खुदाई कराकर प्रवेश मार्ग बनाकर व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाय। उन्होंने कहा कि चोपन ग्राम पंचायत में ‘‘एक गांव-एक बाग‘‘ के लिए 24 घंटे के अन्दर जमीन का चिन्हांकन करके पौधों को रोपित करने के लिए गढ्ढों की खुदाई करा ली जाय। उन्होंने चोपन ग्राम सभा क्षेत्र में उपयुक्त व समथल जमीन का चयन खेल के मैदान के रूप में करने के निर्देश उप जिलाधिकारी सदर को दियेें और कहाकि अब तक ‘‘एक गांव-एक बाग‘‘ के लिए जमीन के चयन में चोपन

गांव के लेखपाल के रूचि न लेने को ध्यान में रखते हुए लापरवाह चोपन के लेखपाल को प्रतिकूल प्रविष्टि देते हुए 24 घंटे के अन्दर जमीन की व्यवस्था सुनिश्चित कर ली जाय। उल्लेखनीय है कि लाखों के बजट से विगत वर्ष चोपन गांव में गोवंश संरक्षण के लिए गौशाला का निर्माण कराया गया था बताया जाता है कि मौजूदा नियुक्त कर्मचारियों द्वारा गोवंश के देखरेख में भारी अनियमितता बरती जाती रही थी उन्हें सानी भूसा उचित समय पर तथा मानक के अनुरूप दिए जाने में भारी अनियमितता बरती जा रही थी जिलाधिकारी द्वारा मौजूद कर्मचारियों से नाराज होकर कड़ी फटकार लगाई और हिदायत दी गई के गोवंश के संरक्षण में किसी प्रकार की कोई कथा कोताही बरती गई तो संबंधितों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button