उत्तर प्रदेश

वित्तीय अनियमितता व कैश बुक के हेराफेरी के आरोप में कुसुम्हा प्रधान  बर्खास्त

वित्तीय अनियमितता व कैश बुक के हेराफेरी के आरोप में कुसुम्हा प्रधान  बर्खास्त

घोरावल विकास खंड के कुसुम्हा ग्राम प्रधान बर्खास्त

ग्राम प्रधान द्वारा विकास कार्यों में वित्तीय अनियमितता की 14 अगस्त 2019 को किया था शिकायत

जिलाधिकारी ने अखिरी जाँच रिपोर्ट मिलने के बाद किया कार्यवाही

जिलाधिकारी ने ग्राम पंचायत के कार्य संचालन के लिए निर्वाचित सदस्य बिंदु पत्नी मधुर सिंह को किया नामित

प्रथम जाँच रिपोर्ट के आधार पर ग्राम प्रधान श्यामलाल विश्वकर्मा और ग्राम पंचायत सचिव हफीउल्लाह (से0नि0) के खिलाफ पूर्व में ही घोरावल थाने में दर्ज कराया जा चुका है एफआईआर

सोनभद्र:विकास खण्ड घोरावल के कुसुम्हा ग्राम पंचायत में कराए गए विकास कार्यों में हुई अनियमितता की शिकायत पर गठित जांच टीम ने जांच कर अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंप दी है। जाँच रिपोर्ट के आधार पर वित्तीय अनियमितता व कैश बुक में हेराफेरी का मामला सामने आया है जिस पर जिलाधिकारी ने ग्राम प्रधान को बर्खास्त करते हुए ग्राम पंचायत के कार्य संचालन के लिए निर्वाचित सदस्य बिंदु पत्नी मधुर सिंह को नामित कर दिया है। 14 अगस्त 2019 को गांव में नंदकिशोर के घर से श्रीकांत के घर तक इंटरलाकिग कार्य में अनियमितता, पुलिया निर्माण में अनियमितता, हैंडपंप मरम्मत, चबूतरा निर्माण आदि में मानकों की अनदेखी किए जाने की शिकायत किया था। उसी आधार पर मुख्य विकास अधिकारी अजय कुमार द्विवेदी ने जांच टीम गठित करते हुए जिम्मेदारी उपायुक्त स्वत: रोजगार को दी थी। जांच में वित्तीय अभिलेख तो सही पाए गए लेकिन कैशबुक में हेराफेरी करके 9999/- रुपये की वित्तीय अनियमितता की पुष्टि हुई। जिस पर तत्काल ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत सचिव के खिलाफ घोरावल थाने में एफआईआर दर्ज कराया गया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button