उत्तर प्रदेश

आदिवासी पर कुल्हाड़ी से हुए जानलेवा हमले में पुलिस द्वारा दोषियों को बचाने का लगाया आरोप-:जमुना गौड़

आदिवासी पर कुल्हाड़ी से हुए जानलेवा हमले में पुलिस द्वारा दोषियों को बचाने का लगाया आरोप-:जमुना गौड़

दुद्धी(रवि सिंह)सोनभद्र:तहसील अंतर्गत ग्राम जोरूखाड ,विंढमगंज निवासी जमुना गौड़ पुत्र स्वर्गीय जगधारी ने आरोप लगाया है कि गत दिनों जमीन पर जबरन कब्जा करने के नियत से कुल्हाड़ी से मुझ पर प्राणघातक हमला लोगों द्वारा किया गया जिसमें में बुरी तरह जख्मी और खून से लथपथ परिजनों द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दुद्धी लाया गया , जिन लोगों के द्वारा मुझ पर सुनियोजित तरीके से हमला किया गया उसमें मेरे पत्नी से प्रार्थना पत्र मनमाना लिखवा कर सिर्फ 1 लोगों पर प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज दिनांक 19 /6 /2020 को शिकायती प्रार्थना पत्र के आधार पर गलत तरीके से की गई जबकि हमले में, पान कुँवर पत्नी रामदेनी , रामधनी पुत्र तुलसी , पप्पू पुत्र राम देनी, अनुज पुत्र रामनरेश, विमला देवी पुत्री रामनरेश , रेशम कुमारी पुत्री रामनरेश , लीला देवी पत्नी रामनरेश जो घटना के वक्त हमले में शामिल थे ऐसे लोगों को विंढमगंज पुलिस के द्वारा बचाए जाने का आरोप लगाया जा रहा है।बाते दिनों इस मामले को क्राइम जासूस न्यूज़ के द्वारा खबर प्रमुखता से चलाया गया था। जिस पर विंढमगजं पुलिस के द्वारा प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज की गई थी ।जनपद सोनभद्र में आदिवासियों की जमीन पर कब्जे कई घटनाएं दिन प्रतिदिन विराट रूप ले रही और शिकायतकर्ता का यह कहना की दोषी लोगों को बचाया जा रहा है यह एक गंभीर और जांच का विषय है ।पीड़ित व्यक्ति के आरोप की गंभीरता पूर्वक जांच उपरांत आवश्यक कार्यवाही हो जिससे शिकायतकर्ता को न्याय पर विश्वास बना रहे। कानूनी दांवपेच के भोले भाले आदिवासी यूं ही शिकार होते रहेंगे ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button