उत्तर प्रदेश

डीजल,पेट्रोल दामों मे लगातार वृद्धि और मंहगाई को लेकर वामदलो का कलेक्ट्रेट परिसर में जोरदार प्रदर्शन

डीजल,पेट्रोल दामों मे लगातार वृद्धि और मंहगाई को लेकर वामदलो का कलेक्ट्रेट परिसर में जोरदार प्रदर्शन

(सरफुद्दीन संवाददाता सलखन)सोनभद्र।वामपंथी दलों द्वारा लगातार पेट्रोल,डीजल वृद्धि व महंगाई के विरोध में कलेक्ट्रेट पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए जोरदार नारेबाजी के साथ धरना प्रदर्शन किया गया और मौके पर जिलाधिकारी के माध्यम से माननीय राष्ट्रपति एवं माननीय राज्यपाल महोदय नामित मांग पत्र को उपजिलाधिकारी को सौंपा । जहाँ प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सचिव कामरेड आरके शर्मा ने बताया कि आज पेट्रोल डीजल के दाम प्रति लीटर 80 के पार हो गए हैं उसको तुरंत सरकार वापस ले विश्व में अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में अभूतपूर्व गिरावट आई है इस गिरावट का आम जनता को लाभ मिल पाता इससे पहले ही केंद्र सरकार ने पेट्रोल, डीजल पर उत्पाद उत्पाद कर और बढ़ा दिया और राज्य सरकारों ने बैट बढ़ा दिया रही सही कसर प्रतिदिन डीजल पेट्रोल की कीमतें बढ़ाकर तेल कंपनियों ने पूरी कर दी रसोई गैस की भी काफी हिम्मत काफी बढ़ गई, विश्व में सर्वाधिक लगभग 69 परसेंटेज टैक्स यहां लिया जा रहा है। पेट्रोलियम पदार्थों की बढ़ी कीमतों की मार से किसानों, मजदूरों, व्यापारियों,ट्रांसपोर्टरों और आम जनता को राहत दिलाने के लिए वामपंथी दल द्वारा लगातार आवाज उठाई जा रही हैं वामपंथी दलों द्वारा देशभर में मूल वृद्धि के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया किया जा रहा है और उपरोक्त उपयुक्त सवालों पर आज हमारे जनपद सहित पूरे प्रदेश में विरोध प्रदर्शन आयोजित किए गए हैं। ज्ञापन के माध्यम से नौ सुत्रीय मांगों पर तत्काल सकारात्तम कार्यवाही की माँग की गयी है।

जिसमें प्रमुखता के साथ पेट्रोल और डीजल की कीमतों पर हाल के सप्ताहों में बढ़ाए गए उत्पादों उत्पादों पर उत्पाद कार और बैट को तत्काल वापस लिया जाए । पेट्रोल डीजल एवं रसोई गैस को पूर्व की मूल्य नियंत्रण प्रणाली द्वारा लागू किया जाए। 

महंगाई भ्रष्टाचार पर तुरंत रोक लगाई जाए।आयकर के दायरे से बाहर समस्त परिवारों को हर माह रुपया 7500 उनके खाते में दिया जाए।उत्तर प्रदेश में चरमरा चूकी कानून व्यवस्था की हालत को नियंत्रित किया जाऐ । दलितों महिलाओं और अल्पसंख्यकों का उत्पीड़न रोका जाए।कोविड-19अस्पतालों एवं एकांत केंद्रों की दयनीय व्यवस्थाओं के सुधार लाया जाए और अधिकारिक जांच किया जाए लोगों को मानवी संजीदगी से मुफ्त इलाज कराया जाए ।

जनता के हितों में आवाज उठाने वाली विपक्षी दलों और सामाजिक कार्यकर्ताओं का राजनीतिक उत्पीड़न बंद किया जाए।अन्य गतिविधियों की तरह विपक्ष की राजनैतिक गतिविधियों को भी अनलाॅक किया जाय। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने लगातार घंटो सरकार की नीतियों के खिलाफ नारेबाजी करते रहे।इस

कार्यक्रम का नेतृत्व भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सचिव कामरेड आर के शर्मा जी, सीपीएम के जिला सचिव कामरेड नंद लाल आर्या व माले के जिला सचिव कामरेड शंकर कोल जी ने किया।इस दौरान एडवोकेट अशोक कुमार कनौजिया,अमर नाथ सूर्य,खेत मजदूर यूनियन के जिलाध्यक्ष कामरेड राम लाल ,नौजवान सभा के जिलाध्यक्ष एडवोकेट अनिल कुमार मौर्या,कमला प्रसाद,विजय पाल रावत व किसान सभा के नेता पुरशोत्तम आदि प्रमुख रुप से उपस्थित रहें ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button