उत्तर प्रदेश

उभ्भा नरसंहार की बरसी पर 11 आदिवासियों को ग्रामीणों ने अपने-अपने घर में श्रद्धांजलि दी

उभ्भा नरसंहार की बरसी पर 11 आदिवासियों को ग्रामीणों ने अपने-अपने घर में श्रद्धांजलि दी

घोरावल(पी डी)घोरावल ब्लाक के ग्राम पंचायत मूर्तिया के उभ्भा नरसंहार की बरसी पर 11 आदिवासियों को ग्रामीणों ने अपने-अपने घर में शुक्रवार को श्रद्धांजलि दी।साथ ही शाम साढ़े सात बजे एक निश्चित स्थान पर पेड़ के नीचे मृत 11 लोगों की तस्वीरों को रखा गया।सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए शांति पूर्वक श्रद्धांजलि अर्पित की गई।सुबह से गांव में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगाने के लिए गांव को तीन किमी परिधि में सील कर दिया गया था। एएसपी ओम प्रकाश सिंह व एडीएम योगेंद्र बहादुर सिंह के नेतृत्व में कई थानों की फोर्स जगह-जगह तैनात रही। कई स्थानों पर बैरियर लगाकर संपर्क मार्ग को बंद कर दिया गया था। गत वर्ष17 जुलाई को भूमि पर कब्जा करने को लेकर उभ्भा गांव में गोली मारकर 11आदिवासियों को मौत के घाट उतार दिया गया था। नरसंहार की बरसी शुक्रवार को थी। प्रशासन ने दो दिन पहले ही ग्रामीणों से वार्ता कर श्रद्धांजलि समारोह न करने का निर्देश जारी कर दिया था। शुक्रवार को मुक्खा मोड़, घुवास चौराहा तथा कन्हारी मोड़ पर अल सुबह ही फोर्स तैनात कर दी

गई और उभ्भा गांव में जाने वालों को रोक दिया गया।अपर पुलिस अधीक्षक मुख्यालय ओपी सिंह व अपर जिलाधिकारी योगेंद्र बहादुर सिंह ने उभ्भा के ग्रामीणों को अपने-अपने घरों में रहने के निर्देश जारी किए। सुबह आठ बजे से पहले ही उभ्भा तथा सपही गांव पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। इस दौरान घोरावल, करमा व हाथीनाला से मगांई गई फोर्स को संपर्क मार्गों पर बनाए गए बैरियर पर तैनात किया गया। सामूहिक रूप से अपने परिजनों को श्रद्धांजलि न दे पाने का मलाल भी रहा

आश्रम पद्धति विद्यालय में किया नजरबंद:कांग्रेस के जिलाध्यक्ष रामराज गोंड़ उभ्भा गांव के ही निवासी हैं। बरसी के एक दिन पूर्व गुरुवार की शाम ही जिलाध्यक्ष को उनके पांच साथियों के साथ पुलिस ने हिरासत में लिया था। पुलिस ने यह कार्यवाही उभ्भा में बरसी के दिन कार्यक्रम करने की सूचना पर की। जिलाध्यक्ष व उनके पांच साथियों को पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय घोरावल में नजरबंद किया गया था।

नरसंहार के पीड़ितों में खाद्यान्न का वितरण:अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की तरफ से भेजी गई खाद्य सामग्री को जिलाध्यक्ष रामराज सिंह गोंड ने शुक्रवार को नरसंहार के पीड़ितों में वितरित किया। अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस के बढ़ते जनादेश से प्रदेश सरकार परेशान है। यही वजह है कि उभ्भा नरसंहार की बरसी पर श्रद्धांजलि देने आ रहे प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को भदोही में गिरफ्तार कर लिया। इसके अलावा उन्हें उभ्भा व अन्य कार्यकर्ताओं को जिला कार्यालय में नजरबंद कर दिया गया। श्रद्धांजलि समारोह रोकने के लिए शासन प्रशासन ने पुलिस बल का प्रयोग किया जो लोकतंत्र में ठीक नहीं है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button