उत्तर प्रदेश

वैश्विक महामारी में बैंक शाखा प्रबंधक ने गृह ऋण के परिवार को किया घर से बेघर

वैश्विक महामारी में बैंक शाखा प्रबंधक ने गृह ऋण के परिवार को किया घर से बेघर

 अनपरा (उमेश कुमार सिंह)-अनपरा कोतवाली क्षेत्र आदर्श नगर औडीमोड निवासी मनोज कुमार प्रजापति ने इंडियनओवरसीज़ बैंक अनपरा से गृह ऋण एवं आनंदी फार्मा हेतु रुपये पन्द्रह लाख लिया अचानक 08मई 2018 को सड़क दुर्घटना में इनकी आकस्मिक मौत हो गयी जिसके कारण बैंक की ऋण ईएमआई नही

अदा कर सके ऋणकर्ता की पत्नी डौली प्रजापति ने बैंक मैनेजर पर आरोप लगाया कि मैनेजर द्वारा व्यक्तिगत मेरे केस में ली जा रही है रूचि कोर्ट के आदेश की अवहेलना की घर पर नोटिस चस्पा कर घर की नीलामी कर दी दो बच्चे संघ विधवा डौली को इस वैश्विक महामारी कोरोना काल ,संक्रमण काल,संकट काल की घड़ी में बैंक शाखा प्रबंधक ने किया घर से बेघर दर- दर भटकती दो बच्चों संघ पीड़िता_

शाखा प्रबंधक का कहना है कि लेनदार के खाते को तब नॉन-परफॉर्मिंग एसेट (एनपीए) में डाला जाता है जब 90 दिनों तक वह बैंक को किस्त का भुगतान नहीं करता है. इस तरह के मामले में कर्ज देने वाले को डिफॉल्टर को 60 दिन का नोटिस जारी कर (सरफेसी) एक्ट तहत कर्जदारों को गिरवी एसेट को जब्‍त करने का अधिकार है पीड़ित जो आरोप लगा रही आरोप बेबुनियाद है_

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button