उत्तर प्रदेश

लॉकडाउन के मद्देनजर सोशल डिस्टेंसिंग व फेस मास्क लगाकर हर्षोल्लास के साथ विश्व आदिवासी दिवस मनाया गया

लॉकडाउन के मद्देनजर सोशल डिस्टेंसिंग व फेस मास्क लगाकर हर्षोल्लास के साथ विश्व आदिवासी दिवस मनाया गया

25 लाख रुपए से नन्हकू बाबा धाम का होगा जीर्णोद्धार दिया आश्वासन* हरिराम चेरो

*विधायक पुत्र रंगराजन चेरों ने अपने एचआरसी ग्रुप से मंदिर निर्माण हेतु एक लाख रुपये देने की घोषणा*

दुद्धी(रवि सिंह)सोनभद्र:दुद्धी क्षेत्र के धनौरा गांव स्थित नन्हकू बाबा धाम पर आज `विश्व आदिवासी दिवस’ हर्षोउल्लास के साथ मनाया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक हरिराम चेरो द्वारा आदिवासी परंपराओं और रीति-रिवाजों के साथ बूढ़ी मां व बूढ़ा बाबा की समाधि पर विधिवत 52 गढ़ की देवी देवताओं को ध्यान कर विधिवत पूजन अर्चन कर नन्हकू बाबा धाम पर आदिवासियों के रक्षा व हित करने का संकल्प लिया|इसके बाद श्रद्धालुओ ने प्रसाद ग्रहण किये|
इस अवसर पर विधायक हरिराम चेरो ने कहा कि आदिवासी शब्द दो शब्दों यानी ‘आदि’ और ‘वासी’ से मिल कर बना हुआ है। इसके अर्थ की बात करें तो इसका मतलब मूल निवासी होता है। बता दें कि हमारे देश भारत की जनसंख्या का 8.6% (10 करोड़) के बराबर एक बड़ा हिस्सा आदिवासियों का है।आदिवासियों को पुरातन लेखों में अत्विका और वनवासी भी कहा गया है।कहा कि समाज को एक जुट होकर शिक्षित बनकर नशामुक्त समाज बनाकर उत्थान की बात सोचनी चाहिए| श्रीचेरो ने इस दौरान अपने मंच संबोधन में सभी आदिवासियों को विश्व आदिवासी दिवस की बधाई देते हुए उनका स्वागत अभिनंदन किया।।चुकि अभी देश मे लाकड़ाउन कोरोना समय चल रहा है। लॉकडाउन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए पूजा पाठ कर आदिवासियों की पुरानी परंपरा के अंतर्गत विश्व आदिवासी दिवस मनाते हुए ननकू बाबा धाम के लिए 25 लाख रुपए अपने निधि से देने की बात कही परंतु देश में चल रहे इस समय करो ना वैश्विक महामारी को देखते हुए सभी विधायकों के निधि रोक दिए गए हैं ।।जिससे कि यह काम यदि मेरे निधि के आने पर हो जाएगा अन्यथा समाजसेवी अन्य संस्थाओं अन्य लोगों से धन इकट्ठा कर में नन्हकू बाबा धाम का जीर्णोद्धार कराऊंगा।।

बकरीहवा से चलकर आए डॉक्टर राम प्रसाद गोंड में अपने संबोधन में कहा की जानकारी के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र संघ ने 9 अगस्त 1982 को आदिवासियों के हित में एक विशेष बैठक आयोजित की थी। तब से इस तारीख को ‘विश्व आदिवासी दिवस’ के रूप में मनाया जाने लगा। इस दौरान सभी ने अपने आराध्य देव नन्हकू बाबा धाम पर अपने अपने वक्तव्य में मंचासीन सभी लोगो ने अपनी बात रखी और आदिवासियों पर आए दिन हो रहे हैं ।दुर्व्यवहार अत्याचार शोषण आदिवासियों की हत्या,लुप्तता को लेकर बातें भी कहीं। इस मौके पर ब्लॉक प्रमुख अनिल सिंह गोंड,रामलोचन तिवारी ,रामेश्वर राय , महेशानंद भाई , विन्ध्येश्वरी प्रसाद ,जिला पंचायत सदस्य मानसिंह, बीरेंद्र सिंह , फौजदार सिंह परस्ते,

बुद्धिनारायण खरवार जिलाध्यक्ष खरवार महासभा , संजय कुमार पूर्व प्रधान ,दशरथ कुमार ,रंगराजन चेरों, अरुण ताड़े,डॉ गौरव सिंह ,विक्की तिवारी ,
बभनी ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधी शीतल गोंड,बिरक्षन पनिका जिलापंचायत सदस्य किरबिल,मीरा गोंड़,विकाश कुमार ,हर्विश्व आदि उपस्थित रहे।।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button