उत्तर प्रदेशलखनऊ

नये FRO श्री नवीन राय और उनके हमराह वन कर्मियों के बूटों की धमक से गूंज रहा है जंगल! वन अपराधी हुये खौफजदा! लोग श्री राय की कार्यशैली से हुये प्रभावित! चहुंओर हो रही है सराहना!

सत्यपाल सिंह 

नये FRO श्री नवीन राय और उनके हमराह वन कर्मियों के बूटों की धमक से गूंज रहा है जंगल! वन अपराधी हुये खौफजदा! लोग श्री राय की कार्यशैली से हुये प्रभावित! चहुंओर हो रही है सराहना!

सोनभद्र! म्योरपुर! उत्तर प्रदेश के सघन वन प्रभाग की श्रेणी के रेनुकूट वन प्रभाग की स्थानीय वन रेंज में बेशकीमती पेड़ों के अवैध कटान का मामला सामने आने के बाद यह वन प्रभाग चर्चाओं में आ गया है!
कुछ लापरवाह और गैर जिम्मेदार कर्मचारियों की गलतियों की वजह से हुयी कुछ लोगों की निलंबन की कार्रवाई के बाद विभाग की धूमिल हुयी छवि को संवारना और खोई हुयी प्रतिष्ठा को पुनः हासिल कर पाना विभाग के लिये आसान नहीं था! इसके लिये जरूरी था कि यहां किसी ईमानदार और दमदार छवि वाले कर्तब्यनिष्ठ वन अधिकारी को भेजा जाये जो अपने फर्ज को बेहतर तरीके से अंजाम दे सके!
बताते चलें कि उच्च स्तरीय जांच में भारी अवैध कटान की पुष्टि होने पर प्रथम दृष्टया दोषी रेंज अधिकारी वन दरोगा व वन रक्षक के निलंबन के बाद इस रेंज को संभालना काफी मुश्किल हो चला था! सूत्रो की मानें तो प्रभागीय वनाधिकारी श्री एम सिंह जी ने बड़ी सूझ बूझ का परिचय देते हुये यहां अनपरा रेंज के क्षेत्रीय वन अधिकारी श्री नवीन राय जी को म्योरपुर रेंज का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा है!
बीते तीन चार दिनों के अंदर श्री राय साहब ने DFO साहब की उम्मीदों पर खरा उतरते हुये लाखों की कीमती लकड़ियों की बरामदगी का वो कारनामा कर दिखाया है जिसे देख सुन कर हर कोई हैरान है!

इसके लिये श्री राय अपने वफादार वन कर्मियों के साथ दिन-रात जंगल का चप्पा चप्पा छानते रहे! जंगल से लगे गांव किनारे नदी नाले तालाब झाड़ झखाड़ में बेखौफ हो कर घूमते हुये लाखों रुपये कीमत की बहुमूल्य लकड़ियों को बरामद कर के वो जनता और अपने अधिकारियों की नजर में हीरो बन चुके हैं!
मात्र कुछ दिनों में ही उन्होंने स्टाफ का दिल जीत लिया है!
श्री राय जैसे दमदार शख्सियत वाले अधिकारी का साथ पा कर वन कर्मियों में भी गजब का उत्साह देखने को मिल रहा है! कल तक पुरानी ढुल मुल प्रशासनिक ब्यवस्था में लुंज-पुंज पड़े रहने के आदी वन कर्मी श्री राय की सख्ती और स्टाफ के प्रति उनका प्यार देख कर स्टाफ अपनी ड्यूटी पूरी मुस्तैदी से कर रहा है!
सबका यही कहना है कि काश: यदि ऐसा पहले से होता रहता तो शायद लोग हम पर उंगली न उठाते!

रेनुकूट वन प्रभाग।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button