उत्तर प्रदेश

फुलवार के ग्रामीणों ने मलिया नदी से अवैध खनन के खिलाफ एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

फुलवार के ग्रामीणों ने मलिया नदी से अवैध खनन के खिलाफ एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

दिए ज्ञापन में बताया कि मालिया नदी फुलवार से ट्रेक्टरों के माध्यम से बालू खनन कर खनन माफिया रेलवे में दे रहे सप्लाई

रात्रि 9 बजे से 4 बजे भोर तक हो रहा महुअरिया रेलवे स्टेशन के समीप पैचिंग प्लांट पर हो रही सप्लाई

ग्रामीणों ने मांग उठाया,कारदायी संस्था को आपूर्ति किये गए बालू के सैंपल का नदी के बालू का होगा मिलान से होगा पर्दाफाश

दुद्धी(रवि सिंह)सोनभद्र:फुलवार गांव के ग्रामीणों ने आज दुद्धी एसडीएम सुशील कुमार यादव को ज्ञापन सौंप कर विंढमगंज वन रेंज व थाना क्षेत्र में हो रहे व्यापक तौर पर बालू के हो रहें अवैध खनन और सिंडिकेट के तहत रेलवे दोहरीकरण में लगे कंपनी को चोरी की बालू आपूर्ति देने का आरोप लगाया है।

 दिए ज्ञापन में फुलवार व महुली के ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि उन ग्रामीणों की जमीन मलिया नदी के किनारे है।फुलवार से गुजरी मालिया नदी से रात भर दर्जनों ट्रैक्टर अवैध खनन कर उसकी आपूर्ति रेलवे दोहरीकरण काम मे दिया जा रहा है और बाहर का परमिट पकड़ाया जा रहा है।आरोप लगाया कि यह खनन वन विभाग और खनन माफियाओं के मिलीभगत से बड़े पैमाने पर फल फूल रहा है मलिया नदी में अवैध खनन धड़ले से होने के कारण हम किसानों की जमीन नदी में विलय होते जा रहा है।आरोप लगाया कि खनन कार्य में लगे ट्रैक्टर संचालकों को मना करने पर वे खुले आम ट्रैक्टर चढ़ाने की धमकी देते है।ग्राम वासियों को जहां शौचालय के लिए बालू के लिए सोचना पड़ रहा है वहां बड़े बड़े कंपनी द्वारा सिंडिकेट के तहत खेल खेला जा रहा है।ग्रामीणों ने महुअरिया रेलवे स्टेशन के समीप एक कंपनी द्वारा लगाए गए पैचिंग प्लांट पर दिए जा रहे अवैध बालू का सैम्पल का मिलान नदी के बालू से किये जाने तथा पकड़ाए जा रहे फर्जी परमिट की भी जांच की मांग उठाते हुए सिंडिकेट का पर्दाफाश करने की मांग उठाई है।ग्रामीणों ने बात चीत में बताया कि यह अवैध बालू कनहर नदी में बन रहे रेलवे पुल के खम्बो के कंकरेटिंग में खपाया जा रहा है।

विधायक से भी मिले थे ग्रामीण,जांच दिया भरोसा 

दुद्धी| फुलवार व जोहरुखाड़ के मलिया नदी से व्यापक पैमाने पर हो रहे खनन व रेलवे दोहरीकरण कार्य मे इसकी सप्लाई की जांच की मांग को लेकर ग्रामीण दुद्धी विधायक हरिराम चेरों से भी मिलकर मामले को अवगत कराया था ,जिस पर शिकायती पत्र पर विधायक ने जाँच हेतु उपजिलाधिकारी को निर्देशित किया है ,साथ ही उच्च स्तरीय जांच का भी भरोसा दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button