उत्तर प्रदेश

गुटखा व्यवसाई की दुकान में हजारों की चोरी

गुटखा व्यवसाई की दुकान में हजारों की चोरी

-:एक ही दुकान पर तीसरी बार हुई नगदी सहित हज़ारों की चोरी 

-: कोतवाली क्षेत्र में होने वाले चोरियों का क्यो नही हो पाता है खुलासा

सोनभद्र:सदर कोतवाली क्षेत्र से महज 500 मीटर की दूरी पर सोमवार की बीती रात हुई गुटका व्यवसाई के दुकान पर हजारों नगदी व सामान की चोरी मचा हड़कंप। बताया जाता है कि भरत लाल दुबे पुत्र स्वर्गीय किशन चंद दुबे निवासी मौसी जो सदर कोतवाली से महज 500 मीटर दूरी पर राज पैलेस सिनेमा हॉल कैंपस में गुटखा फुटकर व्यवसाई के रूप में दुकान चलाते हैं जिनके दुकान पर बीते कुछ महीनों में तीसरी बार चोरों द्वारा हजारों के सामान सहित पर हाथ साफ किया गया वहीं पीड़ित भरत लाल दुबे ने बताया कि रविवार शाम रोज की भाग मैं दुकान बंद करके घर चला गया सुबह आसपास के लोगों द्वारा सूचना मिला कि मेरे दुकान का शटर टूटा है और सामान बिखरा है जब मैं दुकान पर पहुंचा तो सामान इधर-उधर बिखरा था हुआ था और सामान गायब थे लाकर टूटे हुए थे इसकी सूचना हमने 112 पीआरडी को देते हुए कस्बा चौकी को दिया जिस पर मौके पर पहुंचे चौकी इंचार्ज को दिया वहीं उन्होंने बताया कि लगभग 50,000 हजार के सामान सहित नगदी पर चोरों ने अपना हाथ साफ किया है वही पीड़ित श्री दुबे ने बताया कि पिछले महीने जनवरी में इसी तरह 175000 के सामान व नकदी पर चोरों ने हाथ साफ किया था उसके साल भर पूर्व भी चोरों द्वारा मेरे ही दुकान का शटर तोड़कर सामान व के लगभग एक लाख चोरी किया था दोनों बार मेरे द्वारा कोतवाली में एप्लीकेशन देकर न्याय की गुहार लगाई गई थी हालांकि इतने दिन बीत जाने के बाद अभी तक ना ही सामान मिलाना चोर वही सोमवार बीती रात चोरों ने फिर मेरे दुकान को ही टारगेट कर हजारों के सामान व नकदी चुरा ले गए जिस संदर्भ में सदर कोतवाली में एप्लीकेशन देकर फिर एक बार उनके विरुद्ध कार्रवाई करने को दिया गया है। बता दें कि कोतवाली क्षेत्र में बीते दिनों में हुई चोरियों का खुलासा ना होना व फिर से महज कोतवाली से 500 मीटर की दूरी पर चोरी होना लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है । वही कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अंजली राय ने बताया कि अभी हम अवकाश पर गए हुए थे आज आए हैं हालांकि सूचना नहीं मिली है जानकारी लेकर संबंधित कार्रवाई की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button