उत्तर प्रदेश

सलखन मे क्षेत्रीय लोगों ने बैठक कर बिजली समेत अन्य समस्याओं पर चर्चा कर बनी रणनीति

सलखन मे क्षेत्रीय लोगों ने बैठक कर बिजली समेत अन्य समस्याओं पर चर्चा कर बनी रणनीति

■क्षेत्र की समस्याओं को जिलाधिकारी से मिलकर सौपी जाएंगी ज्ञापन।

■समस्याओं का समाधान नही होने के दशा मे होगी धरना-प्रदर्शन।

सलखन(सरफुद्दीन संवाददाता)सोनभद्र।राबर्ट्सगंज सदर ब्लाक के सलखन मे रविवार को दोपहर क्षेत्र के प्रबुद्ध समाजसेवी की एक बैठक रामलीला मैदान में सम्पन्न हुयीं जिसमे क्षेत्र की समस्याओं व मुख्य रूप से गुरमा फीडर में अघोषित बिजली कटौती के विरोध मे जमकर निन्दा की गयी।समाजसेवी श्यामाचरण गिरी व सलखन प्रधान प्रतिनिधि मजनूँ शाह रहें।बैठक में अघोषित बिजली कटौती व समय से सोनन पम्प नहर में पानी ना छोड़ने एवं नहर की दुर्दशा को लेकर चर्चा कर समस्याओ के बाबत रणनीति तैयार की गयी। बैठक में समाजसेवी श्यामाचरण गिरी “उर्फ” बबलू गिरी ने कहा कि बीजेपी की वर्तमान सरकार हर मोर्चे पर पूरी तरह से बिफल साबित हो रही है।भाजपा सरकार के कथनी व करनी मे जमीन आसमान का अंतर है।इस सरकार में बेरोजगारी व भुखमरी की समस्याएं तेजी से बढ़ती जा रही है सरकार कहीं भी रोजगार के लिए कल करखाने की स्थापना नही कर रही है।जनपद सोनभद्र का मुख्य व्यवसाय बालू व क्रेशर व्यवसाय ज्यादातर बंद होने से लाखों मजदूरों के समकक्ष भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गयीं है।खनन् की स्पष्ट निति नही बनने से ऐसे हालत पैदा हो रहे है।भाजपा की सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों को 18 घंटे निर्बाध बिजली की घोषणा हवा हवाई हो गयी है वर्तमान समय में गुरमा फीडर मे 4 से6 घंटो की बिजली आपूर्ति की जा रही है। नक्सल प्रभावित व पहाडी क्षेत्रों बिजली का बुरा हाल है। कभी-कभी कुछ गावों मे सप्ताह भर बिजली नही मिलती है।इस उमस भरी गर्मी व किसानों की खेती मे सिंचाई के लिये किसान परेशान व बदहाल है।उमस भरी गर्मी मे लोग रात भर जाग कर व्यतीत करने के लियें विवश है।कई बार बिजली की समस्याओं को जिला प्रशासन व बिजली विभाग के अधिकारियों को निवेदन करने पर भी समस्याओं का समाधान नही हो पा रहा है। विभाग सिर्फ जांच व वसूली मे मस्त है।जिला प्रशासन क्षेत्र की समस्याओं को लेकर तनिक भी संजीदा नही हैं। समाजसेवी कृष्णकुमार गिरी “उर्फ” टॉम बाबा ने कहा कि सोनपम्प से नहर से समय से किसानों का पानी नही मिल रहा है जिससे किसानो को खेती बारी मे घोर दिक्कतो का सामना करना पड रहा है।सलखन ग्राम प्रधान प्रतिनिधि मजनू शाॅह का कहना था की कोरोना महामारी में स्कूल बंद है कितु फिस चालू हैं और बिजली गोल है सरकार कह रही है कि बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई हो रही है । एक तो नेटवर्क की प्रॉब्लम दूसरे बिजली गुल आखिर बच्चे कैसे पढ़े।पूर्व प्रधान देवनारायण गोंड व खुर्शीद आलम ने भी बैठक में अपने अपने विचारों व समस्याओं को रखा सभी वक्ताओं ने एक स्वर मे कहा की जिला प्रशासन बिजली व्यवस्था

समेत सभी समस्याओ का समाधान नही करती है तो हम सब मिलकर एक बड़ा आंदोलन करने के लियें विवश होंगे।बैठक में सर्वसम्मति से यह निर्णय किया गया कि सभी समस्याओ को एक ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा जाएगा।उसके बाद भी अगर बिजली कटौती नहर का जीर्णोद्धार नहीं हुआ तो बड़े से बड़े आंदोलन को करने पर हम लोग बाध्य होंगे।इस अवसर पर मुख्य रूप से पूर्व प्रधान बिक्रम प्रसाद,राजकुमार यादव,सोनू सिह,अफसार अहमद,अजय कुमार,रामचन्द्र,विद्याधर दुबे,मैसर खान,अंगद विश्वकर्मा,संदीप विश्वकर्मा,शिवशंकर,रामगुल्ली यादव,सहदेव गौड,शिवानन्द यादव,आदि सैकडों क्षेत्रीय ग्रामीण मौजूद रहें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button